उत्तर प्रदेश में 21 सितंबर के बाद शादी समारोह व अंतिम संस्कार में अधिकतम 100 लोग शामिल हो सकेंगे। इतनी छूट राजनीतिक सांस्कृतिक व धार्मिक आयोजनों के लिए मिलेगी। इसके अलावा अनलाॅक – 4 के तहत कंटेनमेंट जोन में डीएम अब स्थानीय स्तर पर लाकॅडाउन नहीं लगा सकेंगें। इसके साथ ही प्रदेश में शुक्रवार रात में सोमवार सुबह तक लागू साप्ताहिक बंदी आगे भी जारी रहेगी।

उत्तर प्रदेश सरकार ने रविवार को कमोबेश केंद्र सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक ही राज्य में अनलाॅक -४ के संबंध में दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। कंटेनमेंट जून में ही लाॅकडाउन 30 सितंबर तक लागू रहेगा। सभी स्कूल ,कॉलेज व कोचिंग संस्थान 30 सितंबर तक बंद रहेंगे। 21 सितंबर से कंटेनमेंट जोन के बाहर के क्षेत्र में कक्षा 9 से 12 तक के छात्र ,शिक्षकों से परामर्श के लिए स्कूल कॉलेज जा सकेंगे ।स्कूलों में 50% शिक्षकों व कर्मचारियों को ऑनलाइन परामर्श के लिए बुलाया जा सकता है।

– सभी सिनेमा हाल ,तरणताल, मनोरंजन पार्क, थिएटर ,सभागार तथा इस प्रकार के अन्य स्थान बंद रहेंगे ।ओपन एयर थियेटर 21 सितंबर से खोले जा सकेंगे ।राज्यों के बीच व राज्य के अंदर व्यक्तियों व माल की आवाजाही पर कोई रोक नहीं होगी।

-पैसेंजर ट्रेनों से आवागमन ,घरेलू हवाई यात्रा व विदेश में फंसे भारतीय नागरिकों को छूट होगी।

-कंटेनमेंट जोन में सघन कांटेक्ट ट्रेसिंग और हाउस टू हाउस सर्विलांस होगा केवल चिकित्सीय आपातकालीन स्थिति व आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति को छोड़कर कोई भी व्यक्ति न अंदर आ सकेगा न बाहर जा सकेगा।